ज़िद's image
क्या वो अब भी उन्हें गले से लगाता होगा ?
बस एक मुस्कुराहट के लिए, क्या ख़ुद को हंसाता होगा ?
मुझसे तो बेहतर ही होगा, क्योंकि उसने उसे चुना है,
वो अकेला जाने कौन-कौन सी ज़िद पूरी कर पाता होगा ?

#क़लम✍

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts