फिल्म समाज का आईना है और इस आईने को बचाना बेहद जरूरी है's image
Kavishala SocialArticle3 min read

फिल्म समाज का आईना है और इस आईने को बचाना बेहद जरूरी है

Ankur MishraAnkur Mishra September 9, 2022
Share0 Bookmarks 122 Reads0 Likes

एक फिल्म जब बनती है जो कई जरूरी चीजें उसके साथ में बन रही होती हैं!

कई और जिंदगियों के लिए आदर्श, आदर्श की कहानी और एक अनुसरण करने के लिए जिंदगी बन रही होती है जो किसी के जीवन को बदल सकती है! लेकिन कुछ सालो से जो प्रक्रिया शुरू हो रही है उससे फिल्मों में जो परिवर्तन आ रहा है वह वास्तव में दुखद है! फिल्म निर्माताओं के पास या तो कहानियां नहीं है या फिर अच्छे कलाकार नहीं हैं! दूसरी भाषाओं की फिल्मो को कॉपी करके वाहवही लूटने की प्रक्रिया चल रही है! लेकिन यह कितने वक़्त तक चलेगा! उससे भी ज्यादा दुःखद यह है की कुछ बड़ी फिल्मो और बड़े कलाकारों के बीच अच्छी कहानियाँ जो कभी कभी बनती हैं वो दब जाती हैं! बड़े बड़े मीडिया समूह बड़ी फिल्मों की बातें और सराहना करके अच्छी फिल्मो को नजरअंदाज कर देते हैं!

हाल फिलहाल में एक फिल्म आयी है जिसका नाम है 'सिया' फिल्म मनीष मूंदड़ा ने बनाई है, एक जरूरी मुद्दा है! मनीष मुंद्रा के निर्देशन में बनी यह फिल्म एक रेप सर्वाइवर की कहानी है, जो इसके खिलाफ आवाज उठाती है, और इसका असर उसके परिवार पर पड़ता है, एक दर्द जो समाज तक पहुंचना जरूरी है उसको बखूबी इस फिल्म में दिखाने की कोशिश की है! देश में जब रोजाना हजारो लड़कियाँ बलात्कार का शिकार हो रहीं है और उनकी जिंदगी ख़राब हो रही है उस वक्त में ऐसी फिल्म का आना एक जरूरी संदेश है! 

फिल्म को देश के सिनेमा घरों में सितम्बर 16 से देखा जा सकता है! 

मुद्दा जरूरी है, यह दर्द और आवाज लोगों तक पहुँचनी जरूरी है इसलिए फिल्म के निर्देशक मनीष मुंद्रा ने फिल्म का प्रीमियर देश के अलग अलग शहरों में करने की योजना बनाई है! 

अब जिम्मेदारी लोगों की है और सबसे बड़ी जिम्मेदारी उन मीडिया घरानो की है जिनकी आवाज लोग सुनते हैं की इस कहानी को लोगो तक पहुँचाया जाए, लोग फिल्म देखें और उससे कुछ सींखे! 


फिल्म समाज का आईना है और इस आईने को बचाना बेहद जरूरी है!

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts