पिता's image
Share0 Bookmarks 22 Reads0 Likes


अभाव में बिताया खुद का जीवन, 

और हमारी जिन्दगी बना दी, 

पिता ने हंसते-हंसते हम पर, 

पाई पाई लुटा दी | 


~ अंकुर अग्रवाल

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts