किताब समीक्षा's image
Article3 min read

किताब समीक्षा

PriyadarshiPriyadarshi March 14, 2022
Share0 Bookmarks 7 Reads0 Likes
यह एक किताब के बारे में मैंने लिखा है । अभी हाल फिलहाल में मैंने साहित्य विमर्श प्रकाशन द्वारा एक किताब पढ़ी । चांद का पहाड़ । इस किताब के बारे में यह मेरे कुछ विचार है : 
चाँद का पहाड़’ नामक यह उपन्यास शंकर नामक एक युवक के बारे में है।शंकर बंगाल के एक छोटे से गाँव में रहता था लेकिन भूगोल के संदर्भ में उसका ज्ञान काफ़ी विस्तृत था।उसे दुनिया भर के नक़्शों का अध्ययन करना बहुत पसंद था।दूर दूर के देशों का भ्रमण करना और नई चीजें ढूँढना उसे बहुत रोमांचक लगता था।इसी रोमांच और उत्साह के कारण शंकर एक दिन नौकरी करने के बहाने से अफ़्रीका की अनजान धरती पर पहुँच जाता है।वहाँ रहते हुए उसका सामना ख़ूँख़ार शेरों के ख़ौफ़ और आतंक से होता है जब उसके कई साथी शेर का शिकार बन जाते हैं।कुछ समय पश्चात शंकर को किसी दूर के रेलवे स्टेशन पर स्टेशन मास्टर की नौकरी मिल जाती है।उस सुनसान रेलवे स्टेशन पर उसका सामना ख़तरनाक सांपों और शेर से होता है।जैसे- तैसे करके वह अपने प्राण बचा लेता है।एक दिन रास्ते में उसे एक बेहोश आदमी पड़ा हुआ मिलता है।उस आदमी की गंभीर स्थिति को देखते हुए शंकर उसे अपने साथ स्टेशन ले आता है।पर उसे कहाँ पता था कि यह आदमी उसकी तक़दीर बदल देगा…।

डीएगो ऐल्वरेज़ नामक यह आदमी बहुत वर्ष पहले अफ़्रीका आया था।वह अपने एक साथी जिम कार्टर के साथ लगभग सोने की खान की खोज कर ही लेता मगर एक अजीबोगरीब जानवर बुनिप द्वारा जिम की हत्या के बाद सोने की खान का यह राज राज ही रह जाता है।इस कहानी को सुनकर शंकर सोने की खान को खोजने के लिए उत्सुक हो जाता है।उसकी ज़िद और उत्साह को देखकर ऐल्वरेज़ उसे साथ लेकर सोने की खान को ढूँढने के लिए घने जंगलों में निकल पड़ते हैं।आगे की उनकी यात्रा बहुत ही रोमांचक है।उनके साथ-साथ पाठक भी शब्दों के माध्यम से अफ़्रीका भ्रमण का आनंद लेते चलता है।ऐसा लगता है कि हम सचमुच में अफ़्रीका के जंगलों की रोमांचक यात्रा कर रहे हैं।उपन्यास का हर एक पन्ना मन में एक नया रहस्यमयी रोमांच और उत्साह भरता जाता है।पूरी कहानी इतनी ज़बर्दस्त ढंग से लिखी गई है कि एक पल के लिए भी हमारा ध्यान नहीं भटकता।

श्री विभूतिभूषण बंदोपाध्याय जी का यह उपन्यास सच में अमूल्य है।साहित्य विमर्श प्रकाशन की पूरी टीम को इतनी अच्छी पुस्तक प्रकाशित करने के लिए बधाई और बात-बहुत धन्यवाद जिनकी कोशिश से हमें किसी बांग्ला भाषा के एक प्रसिद्ध लेखक की सुंदर रचना को हिंदी में पढ़ने का अवसर मिला। आप सभी से निवेदन है कि इस रोमांचक किताब को पढ़ने का अवसर न खोए और इससे जल्द ही पद ले ।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts