कुर्बानी और फर्ज's image
Share0 Bookmarks 61 Reads1 Likes

तुम्हारी मंज़िल की राह में हम

अड़े ही नहीं,

तुम्हें जिताने की खातिर हम

लड़े ही नहीं ।


अकेले सफलता की सीढ़ी हम

चढ़े ही नहीं,

अपनों को पीछे छोड़ आगे हम

बढ़े ही नहीं ।


~ अम्बुज गर्ग

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts