रंगीन सफर's image
Share0 Bookmarks 87 Reads1 Likes
रंगीन सफर-
दुनिया का रंगीन सफर ये हमको कहाँ कहाँ ले जाये
हम भी कम रंगीन नहीं थे देखा जो इसने दिखलाये
दिवस सुनहरे सुख के देखे देखी दुःख की काली रातें
तारीफों  के  सुने  तराने  निंदा  की  देखी  बारातें
ऐसे सन्त मिले जो दया धर्म के अमर पुजारी निकले
ऐसे मिले अमीर वास्तव में जो चंठ भिखारी निकले
झरनों की दिलचस्प छटायें सावन की घनघोर घटायें
चिड़ियों का कलरव  पेड़ों से लिपटी देखी ललित लतायें
झोपड़ियों में सिसक रही जिंदगियाँ बिना सहारे देखे
आसमान को छूते जगमग करते पाँच सितारे देखे
शहरों का कोलाहल राजमार्गों पर बाहनों का रेला
गाँवों की हरियाली बागों में देखा पशुओं का मेला
आसमान को छूते पर्वत जीने का उत्साह बढ़ाते
दिशाहीन नवयुवक सोच में क्या होंगे कुछ समझ न पाते
रंग  बिरंगी  पोशाकों  में नन्हे  बच्चे  हैं अति प्यारे
ग्वाल वाल संग गेंद खेलते हों जैसे घनश्याम हमारे
थिर न रहा मन लगा सोचने जाये कहाँ,कहाँ न जाये
दुनिया का रंगीन सफर ये हमको कहाँ कहाँ ले जाये॥
              ‌                            "अमर"

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts