* कविता?*'s image
Share0 Bookmarks 54 Reads1 Likes
                  ‌               *कविता?*
अन्तर्मन की कथा व्यथा की कविता एक पहेली है
प्रकृति प्रेम सौन्दर्य जड़ित भावों की सौम्य सहेली है
स्नेह सिक्त वात्सल्य वीरता का आवेशित रूप लिये
हास्य  व्यंग  से  सजी हुई निर्मल बाबा की चेली है॥
सिन्धु सभ्यता तक्षशिला और नालन्दा विख्याता है
गंगा  यमुना  कावेरी  सतलज  की निर्मल  गाथा है
विन्ध्य हिमांँचल अरावली का भौगोलिक इतिहास लिये
हिमगिरि का उत्तुंग शिखर भारत की भाग्य विधाता है॥
ऋषि मुनियों की तपस्थली वेदों की रिचा पुरातन है
जीवन का उत्थान पतन गीता का ज्ञान सनातन है
कबिरा की उलटी वानी तुलसी की अकथ कहानी है
कवियों का तन मन धन कविता उनका सारा जीवन है॥
धरा धाम कविता ही है कविता इस जग की जननी है
सूरज  चाँद  चाँदनी  तारे  अम्बर  काली  रजनी है
सागर की लहरों पर खिलती प्रात:सूरज की किरणें
साजन के आलिंगन की अनुभूति संजोती सजनी है॥
कविता ज्ञान विराग राग  सौन्दर्य  प्रेम की भाषा है
कला संस्कृति नीति रीति इस जीवन की परिभाषा है
मान  और  सम्मान  ज्ञान  विज्ञान  समेटे आँचल में
आने वाले कल के घटनाक्रम की अन्तिम आशा है॥
                                            अमर

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts