Parivartan( परिवर्तन )'s image
Share0 Bookmarks 51 Reads1 Likes

परिवर्तन


समय ने अपना चक्र घुमाया , परिवर्तन है लेकर ये आया

कुछ ने आगे बढ़ कर अपनाया , पर ये सबको न रास आया


नहीं ढल पाते कुछ , इस परिवर्तन के मार से

सब नियंत्रण में होना कठिन है , इसके प्रभाव से


कोई इसका सामना करने , योद्धा की भांति तत्पर है

कोई परिणाम की चिंता कर , खोया अस्त सा बैठा है


बहुत हुआ अब सोचना , सजीव सा देख एक सपना

सफलता है अगर पाना , मंजिल निर्धारित कर अपना


परिवर्तन लाज़िम है या नहीं , इसका परिणाम तो समय ही बतलाता है

जो उचित समय पे स्वयं को नहीं बदल पाता , वो समय - समय पछताता है


-अमन कुमार झा

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts