राज's image
Share0 Bookmarks 99 Reads0 Likes

दिल में रख  कर क्या होगा 

ज़ज़्बात जुबां पर आने  दो ,

दिल में उल्फ़त के शोलों को 

नग्मों  में  जरा ढल जाने दो ,

शोर  मचाती शोख़ हवा को 

थोड़ा  खुद  तो  इतराने  दो ,

मस्ती  में  डूबी  कलियों को 

अपनी  खुश्बू  बिखराने  दो ,

न जाने कल फिर क्या होगा 

ये   राज  बड़ा  गहरा होगा ,

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts