क्या कभी's image
Share0 Bookmarks 52 Reads0 Likes

जिनके प्रति उत्तरदायी हो तुम

जिनका कारण हो तुम

उत्तर दो क्या उनके


मुरझाये हुए स्वप्नों को

क्या पुनः कभी खिला पाओगे ?


टूटे हुए विश्वासों को

क्या कभी भला जोड़ पाओगे ?



अश्रु हैं जिन नयनों में

क्या भला कभी तुम पोंछ पाओगे?



अधरों पर बसे मौन को

क्या कभी स्वर दे पाओगे ?


छोड़ी हुई पगडंडियों पर

क्या कभी लौट पाओगे ?


छूटे हुए हाथों को

क्या फिर कभी थाम पाओगे?


थके हुए मनों की क्लांति

क्या कभी मिटा पाओगे?

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts