यार तुझसे मिरा भला न हुआ's image
Poetry1 min read

यार तुझसे मिरा भला न हुआ

आकिब जावेदआकिब जावेद January 6, 2023
Share0 Bookmarks 19 Reads0 Likes

यार तुझसे  मिरा भला न हुआ,

ज़िन्दगी में  ये वाक़या न हुआ।

मेरे   अश्कों  को  पोछने  आते,

आपसे  ये भी  बारहा न हुआ।

जिसको देखा वो बेवफ़ा निकला,

एक भी शख़्स बावफ़ा न हुआ।

हर तरफ़ तीरगी का आलम है,

मौसमे -ज़ीस्त खुशनुमा न हुआ।

-आकिब जावेद

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts