किसी मजबूर का आँसू's image
Love PoetryPoetry1 min read

किसी मजबूर का आँसू

Afzal Ali AfzalAfzal Ali Afzal October 7, 2021
Share0 Bookmarks 22 Reads0 Likes


किसी मजबूर का आँसू जो टपकता होगा

दिल फ़रिश्तों का भी ज़ोरों से धड़कता होगा

----------

उसको ख़ुश्बू की ज़रूरत कहाँ पड़ती होगी

बेटियों से यूँ ही आंगन वो महकता होगा

----------

कोई तस्वीर फिर आंखों में खटकती होगी

अपने कमरे में कोई तन्हा सिसकता होगा

----------

किसके क़दमों के निशां आंसुओं पे बनते हैं

दिल की गलियों में कोई दर्द भटकता होगा

---------

कोई क़िस्तमत के ही दम पर तुझे पा लेगा और

तेरा हो कर भी कोई बस तुझे तकता होगा

----------


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts