नफ़रत और बटवारा's image
Poetry1 min read

नफ़रत और बटवारा

Abhinav SinghAbhinav Singh January 21, 2023
Share0 Bookmarks 38 Reads1 Likes
जो दुश्मनों ने करना चाहा
हमने खुद कर लिया
धर्म के नाम पर नफरत को
अपने घर कर लिया

कपड़े को भी बांटा
रंग को भी बांटा
खरीदारी भी बांटी
संग को भी बांटा
बांटा कुछ इस कदर
कि मोहभंग कर लिया
धर्म के नाम पर नफरत को
अपने घर कर लिया

जो दुश्मनों ने करना चाहा
हमने खुद कर लिया


- अभिनव

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts