में किसान हूँ में किसान हूँ's image
1 min read

में किसान हूँ में किसान हूँ

Abhay DixitAbhay Dixit December 23, 2021
Share0 Bookmarks 95 Reads2 Likes
में किसान हूँ में किसान हूँ,
न धुप लगती है मुझे,
न ठण्ड कभी लगती है,
बारिश तो मुझे औषधि सी लगती है।।

में किसान हूँ में किसान हूँ,
जब आप बैशाख की तपन में आराम करते है,
तब में खेत  जोतने जाता हूँ,
सारा देश बैठ कर खाय ,
इसलिए में आराम न पता हूँ।।

न कभी में अभिमान करता खुद पर,
न कभी में सम्मान की चाह रखता हूँ,
मेरा देश में कोई कभी न भूखा सोये ,
इसलिए दिन - रात में मेहनत करता हूँ।।

बस इतना कहता हूँ सबसे तुम कभी अन्न न फेंकना,
भले हो तुम अपने घर के रईस पर खाते वक्त मुझे देखना,
में तो दो पेसो की जरुरत में अपना सारा अनाज बेंच देता हूँ,
सारा देश का में पेट भरकर कभी कभी में भूखा भी रह लेता हूँ।।

अपनी धुन में मधुर जीता हूँ,
 राजनीति से बहुत दूर रहता हूँ,
पर सत्ता के लालची लोगो की,
कभी कभी कुर्सी का रास्ता बन जाता हूँ।।
में किसान हूँ में किसान हूँ
~अभय दीक्षित




No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts