सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं's image
Poetry1 min read

सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं

Abasaheb MhaskeAbasaheb Mhaske April 3, 2022
Share0 Bookmarks 34 Reads0 Likes

सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं

हैरान गली परेशान रोड 

ट्यूबचन्द टायरचंद पंंक्चरवाले  

नुक्कड़ पे दुकान अपना भी हैं 


सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं

अच्छी लगती हैं वह सब बाते 

मन भर आता हैं सच में कसम से 

रहे भरोसे शान से तुम्हारे मोहनप्यारे 



सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं

महंगाई बेकारी उपरसे तोड़ दी 

कमर कोरोना महमारिने हमारी 

जिए भी तो कैसे आखिर सपनो के जाल में 



सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं

शिगूफा हैं या एक चुनावी जुमला 

नहीं पता पर आशा ही तो जिंदगी हैं 

ढंग के कपडे पढाई लिखाई दवाई 


दर दर ठोकरे खाना ना पड़े अब तो 

दो वक्त की रोटी को कोई ना तरसे 

रोजगार नौकरी हो सबको शादिया समयपर 

खुशहाल जिंदगी का सपना बस छोटासा सबका 


सुना हैं अच्छे दिन आनेवाले हैं 

सपनो में खोये रहते हैं अक्सर 

रेशन ख़तम गैस ख़तम अंदर से आवाज 

सपना और वास्तव विरोध सही जुमलों के शहर में 

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts