Tagged: Hindi Poetry

तुम्हारी आहट से भी सुन लेता मैं 0

तुम्हारी आहट से भी सुन लेता मैं

इतनी जोर से क्यों पुकार रहे, मैं करीब हूँ तुम्हारे तुम्हें यकीन होगा, तुम अपनी आँखे बंद करो और मुस्कुराओ तुम्हारी मुस्कुराहट भी सुन लेता मैं। इतनी हैरां क्यों है, वो अफवाहें थी जो...

सफ़र 0

सफ़र

रास्ते मंज़िलों से मिलें ये ज़रूरी नहीं, हर सफ़र का सफ़र में मज़ा लीजिए।  

शहर में तो बस एक ही चर्चा है 0

शहर में तो बस एक ही चर्चा है

शहर में तो बस एक ही चर्चा है अख़बार में छपा कुछ सच्चा है। थोड़ा सा तुझको पाने की खातिर हमने तो पूरा खुद को खर्चा है। कद ख़्वाहिशों का ऊँचा है उसका जो...

वसंत 0

वसंत

सर्द भोर की लालिमा, चटख धूप खुशरंग चित्रकार रश्मिरथी, नभ साँझ रंगे बहुरंग । श्याम विहग का कूकना, गौरैयों का गान । मूक फुदकती गिलहरियां भ्रमरों का मधुपान । खेत में पकती बालियां, सरसों...

तिश्नगी 0

तिश्नगी

दो दिन की ज़िन्दगी, करीब आने में गुज़ार दी अब जीना है मुझे, एक और ज़िन्दगी दे-दे   वस्ल की रात को गुज़र जाने की उजलत थी तेरी बाहों में हूँ अभी, थोड़ा  और...

पत्थर दिल नहीं हूँ दिल पे पत्थर रखा है… 0

पत्थर दिल नहीं हूँ दिल पे पत्थर रखा है…

बेरुख़ी नहीं वक़्त ने बेबस इस क़दर रखा है आँखों से छलकने को है दर्द इतना भर रखा है काश मेरे दिल की हालत तू भी कभी समझे पत्थर दिल नहीं हूँ दिल पे...

दूर रहते हो याद तो आती होगी ना… 0

दूर रहते हो याद तो आती होगी ना…

हमारी खुशियों का खज़ाना माँ से है, ऐ लोगों जन्नत में ठिकाना माँ से है !! जहाँ में मतलबी मोहब्बत का शोर है, मोहब्बत का असली पैमाना माँ से है !! आदर, सम्मान, इज़्ज़त...

सुबह-शाम 0

सुबह-शाम

हर सुबह-शाम दिल तेरे लिए रोता है। तेरे पास होने का एहसास होता है। देखता हूँ जिधर आती है नज़र। तेरे एहसास में वो जादू है। तेरा नाम लुखता हूँ वो खुदा होता है।...

कोई सपना तो हो 2

कोई सपना तो हो

कोई अपना तो हो.. अपना भी कोई सपना तो हो… कोई साथी तो हो.. साथी भी कभी साथ तो हो… यू मुसकुराते ही कट जाए हर सफर… पर मुसकुराने की भी वजह तो हो…...

बसन्तपञ्चमी 0

बसन्तपञ्चमी

बसंत ऋतू का आगमन है, माँ शारदे को नमन है नव कोपलें और हैं लताएं, चहुँ ओर सृजन ही सृजन है माँ शारदा की आराधना है, और वीणा का वदन है आभास सुमधुर हो...

Please wait...

Never Miss Any Poetry, Join Our Family

Want to be notified when any New Poetry Published? Enter your email address and name below to be the first to know.