Category: Ajay Kishor

दिल की आवाज़  2 0

दिल की आवाज़ 2

  1) हर मोड़ पर मिले हमें जज़्बातोन से खेलने वाले। ज़खम हमारे मज़ाक बन गये। *—————————-*——————————* 2) तुझे प्यार मैं अपना कैसा दिखाउं। तु है मोहब्बत मेरी ये केसे जताउं। जो तु कहे...

मौसम गरिबी का 2

मौसम गरिबी का

गरिबी का मौसम भी अजीब होता है! होती है खुशी दौलत में ओर बद नसीबी  के करीब होता है ! तमन्ना मर जाती है बच्चों की ओर बापु का खुन पसीना होता है! होती...

मेहनत 0

मेहनत

शौक नया जो सिर पर आया! करने पूरा मन मच्लाया! जी जान से करता मेहनत! देख कर इसको सब कहते हैं! ना जाने क्या ये करना चाहे! मेहनत इतनी करता है ये! हासिल क्या...

ख्वाहिश 0

ख्वाहिश

ख्वाहिश मेरी जो तुम जान जाती हाथ मेरा तुम थाम लेतीं जी सकता नहीं बिन तेरे मैं मरना चाहता हुं तेरे साये मैं चाहता हुं खुश तुझे देखना बस इस चाहत को तुम मान...

सच्चाइ 0

सच्चाइ

ऐसा नहीं है मैं सच्चाइ छुपाता हुं बस उनकी हक़ीक़त से घब्राता हुं जो हक़ीक़त उनकि जान  ली सबने तोअकेले वो रह जयेन्गे बस इस्लिये मैं अपनी सच्चाइ चुनिन्दा लोगों को सुनाता हुं  ...

दुनिया की रीत 0

दुनिया की रीत

भागते भागते थक गया हुं अपनो से बहुत दूर निकल गया हुं अब नहीं है कोई साथी अकेला सा पड़ गया हुं ना जाने किस बात का गुरुर है कैसा ये घमंड जीवन की...

सहारा एक – दुज्जे का 0

सहारा एक – दुज्जे का

तूफ़ान के बीच फसा हुं मैं उफन्ति लहरों के दर्मियान हुं मैं साथ है मुझे मेरे चंद साथियों का उनकि ताक़त लिये खडा हुं मैं दुश्मन हो जाये सारे मेरे साथ कभी ना ये...

दुख हैं हज़ारों 0

दुख हैं हज़ारों

युं तो दुख हैं ज़िंदगी में हज़ारों! पर मुस्कुरना ना भूलो यारो! देख कर तुम्हे मुस्कुरता है कोई! गर दुखी हो तुम तो मुर्झाता है कोई! चमक ज़िंदगी की ना गवाना यारो! जीवन है...

आहट 0

आहट

समय की आहट जो ना पहचाने सहता दुख वो हर बार. अंजाने में लोग समय से कर रहे खिलवाड. खेल ये मेहन्गा पड़ जायेगा. समय जो जिद्द पर अड़ जायेगा. आता नहीं लौट कर...

माँ.. 0

माँ..

Maa ki seerat itni pyari. Jivan apna jala kr jindgi meri sawari. Rah sakta nahi upar wala sath sabhi ke. Isiliye usne dharti pr maa utaari.   Dukh sahti hai sare wo. Bachhon ko...